CTET EXAM Information in Hindi | स्टेट एग्जाम की जानकारी

CTET EXAM Information

अगर आप टीचिंग लाइन में अपना करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो सीटीईटी के बारे में जाना बहुत जरुरी है जिसमें हम आपको बताएँगे कि सीटीईटी क्या है? कौन कौन इस एग्जाम को दे सकता है और किस तरह का पैटर्न होता है सीटीईटी कब और कौन आयोजित करवाता है। इससे संबंधित सारी जानकारी दी जायेगी। जोकि आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

CTET क्या है?

सीटीईटी ( CTET )सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट मतलब शिक्षक की योग्यता परखने के लिए  लिया गया टेस्ट । इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य शिक्षकों की मानसिक और व्यवहारिक ज्ञान का मूल्यांकन करना है। ताकि बच्चों के लिए बेहतर से बेहतर शिक्षक चुने जा सके। ये परीक्षा सरकारी विद्यालयों में नौकरी पाने के लिए पहली सीढ़ी है। इसलिए इसकी पूरी और सही जानकारी होना बेहद जरुरी है।

साल में कितनी बार होती है CTET की परीक्षा

CTET की परीक्षा सेंटर द्वारा साल में दो बार आयोजित करवाई जाती है। फरवरी और सितम्बर महीने में ये परीक्षा आयोजित करवाई जाती है।

कितने मार्क्स वाला पास होता है।

एग्जाम क्लियर करने का अर्थ नौकरी मिलना नहीं है। इसका मतलब यह है कि कैंडिडेट सरकारी स्कूलों में टीचर बनने के लिए योग्य है। 60% और उससे अधिक अंक लाने वाले आवेदक का ये एग्जाम क्लियर हो जाता है। CTET की परीक्षा क्लियर होने के बाद कैंडिडेट का मार्क्स सर्टिफिकेट सात सालों तक वैलिड माना जाता है। इस दौरान अगर अध्यापक की जॉब निकलती है तो देखा जाता है कि कितनी पोस्ट है और कितनी खाली है उस हिसाब से मेरिट लिस्ट के आधार पर आपका चयन किया जा सकता है।

CTET का महत्त्व

CTET का एग्जाम क्लियर करने के बाद सरकारी विद्यालय में नौकरी पाई जा सकती है। CTET सर्टिफिकेट के बेस पर आप निकली हुई नियुक्तियों के लिए आवेदन कर सकते है। KVS, NVS आर्मी शिक्षक, ERDO आदि के लिए बिना सीटीईटी पास किए अप्लाई नहीं किया जा सकता।

CTET एग्जाम का समय और विषय

सीटीईटी की परीक्षा 2.5 घंटे की होती है और 150 प्रश्न पूछे जाते है जोकि 5 भागों में विभाजित होते है। और सीटीईटी में नीचे दिए गए विषयों से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है।

1) बाल विकास और शिक्षाशास्त्र

2) हिंदी

3) इंग्लिश

4) गणित

5) पर्यावरण अध्ययन

CTET का एग्जाम कौन दे सकता है?

यदि आप अध्यापक बनना चाहते है तो आपके लिए जानना जरुरी है कि CTET के लिए कौन अप्लाई कर सकता है।

यदि आप अपना शिक्षक बनने का सपना पूरा करना चाहते है तो आपको बारहवीं कक्षा को कम से कम 50 % मार्क्स से पास करना जरुरी है। और इसके साथ डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन हो और सीनियर सेकेंडरी का अध्यापक बनने के लिए अगर आपने बीएड की है तो उसमे आपके कम से कम 50 % मार्क्स होने चाहिए तो आप CTET की परीक्षा दे सकते हो।

CTET एग्जाम टिप्स

अगर आप सीटीईटी की तैयारी करना चाहते हो तो इनसे बेहतर टिप्स आपको नहीं मिलेगी। इसमें हम आपको जरुरी बाते बताएंगे अगर आप ऐसे तैयारी करोगे तो यक़ीनन CTET क्रैक करने में ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी। अगर किसी ने स्टार्टिंग से ही NCERT की बुक्स को अच्छे से पढ़ा है तो ज्यादा मेहनत की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। बस आपने जो पढ़ा है उसे अच्छे से दोहराना जरुरी है तो चलिए जानते है कुछ महत्वपूर्ण बाते जिन पर ध्यान देना बहुत जरुरी है।

1) किसी भी एग्जाम को देने से पहले अच्छे से एक बार पैटर्न और सिलेबस को समझ ले।

2) कम समय में बेहतर तैयारी के लिए प्रीवियस पेपर को देखें । उससे आपको लगभग यह पता चल जाएगा कि एग्जाम कैसा आता है।

3) दोस्तों NCERT बुक्स तो बिल्कुल भी इग्नोर न करें, क्योकि ज्यादातर प्रश्न इन्हीं बुक्स में से पूछे जाते है अगर आप इन्हे अच्छे से पढ़ लगे तो आपकी आधे से ज्यादा तैयारी हो जायेगी।

4) जो पढ़ा है उसे दोहराना न भूले। और अगर किसी का मैथ्स ज्यादा कमजोर है तो प्रीवियस इयर्स के प्रश्न पत्र में से उसी तरह के प्रश्न हल करके देखे।

5) अगर आप पहले से सीटीईटी की  तैयारी करना चाहते है और कोई टॉपिक आपको कठिन लगता है तो आप यूट्यूब वीडियो से हेल्प ले सकते है।

कुछ अन्य बाते जो आपको कोई नहीं बताएगा

1) सबसे पहली बात प्रश्न पत्र पढ़ने में ज्यादा समय न लगाए। क्योकि कुछ स्टूडेंट्स अपना ज्यादातर समय उसी में ही खराब कर देते है।

2) सारी इंफोर्मेशन को अच्छे से फिल  करने के बाद चेक कर ले।

3) कुछ लोग ज्यादा टेंशन की वजह से अपने उत्तर गलत कर लेते है और बाद में उन्हें लगता है कि ये गलत है तो आपको पहले ही अच्छे से पढ़कर गोला भरना है गलत सर्किल फिल करने के बाद उसे ठीक करने के गुंजाईश नहीं रहती।

4) कुछ स्टूडेंट्स एग्जाम देते हुए एक ही प्रश्न पर अटके रहते है तो कृप्या ऐसा न करें अगर आपको उसको उत्तर नहीं आता तो जल्दी से आगे बढ़ते हुए अपने प्रश्न हल कीजिये। क्योकि गणित हल करते हुए समय लगता है।

5) CTET में नेगेटिव मार्किंग नहीं है तो कोशिश करें कि कोई भी प्रश्न न छूटे। पहले जो प्रश्न आते है उन्हें कर ले।  जिन प्रश्नों में डाउट है उसे बाद में करने का प्रयास करें।

उम्मीद है कि आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी और जो सीटीईटी की परीक्षा देने के बारे में सोच रहे है उनके लिए ये सारी बातों पर ध्यान देना बहुत जरुरी है। जिस समय आप एग्जाम सेण्टर में बैठेंगे तो पढ़ी हुई जानकारी आपके काम आएगी। तो दोस्तों बेहतर तैयारी के लिए इन चीज़ो पर ध्यान दें ताकि आप अपना CTET का एग्जाम क्रैक कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial
LinkedIn
Share
Instagram
WhatsApp