शाहरुख़ खान को बॉलीवुड का बादशाह | Shahrukh Khan story in Hindi

कठिन परिश्रम और संघर्ष ने बनाया शाहरुख़ खान को बॉलीवुड का बादशाह

बॉलीवुड महानायक और फ़िल्मी क्षेत्र में बादशाह खान को कौन नहीं जानता, जी हाँ हम बात कर रहे है सुपर स्टार रोमांटिक किंग शाहरुख़ खान की। कोई बादशाह कहता है तो कोई किंग खान ये है दोस्तों इनकी पहचान। 1989  ‘फौजी’ सीरियल से अपने करियर की शुरुआत करने वाले शाहरुख़ खान आज दर्शाकों के दिलों पर राज कर रहे है।

कैसे रखा फिल्म इंडस्ट्री में कदम

1992 में इन्होने बॉलीवुड में बहुत ही हिट मूवी से कदम रहा और उनकी दीवाना मूवी को लोगो ने खूब सराहा और इस मूवी में दिव्या भारती और ऋषि कपूर भी मुख्य भूमिका में  उनके साथ थे। और अगले ही साल उनकी ‘डर’ और ‘बाजीगर’ मूवी को लोगो ने खूब पसंद किया। इस तरह शाहरुख़ खान सफलता के शिखर पर चढ़ते चले गए और अपने कौशल की छटा से लोगो को प्रभावित करते रहे। अपनी एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्मे जैसे ‘दिल तो पागल है’, ‘कुछ कुछ होता है’, ‘दिल वाले दुल्हनिया लें जायेगे’ आदि फिल्मों से इन्होने लोगों के दिलों में अलग जगह बना ली और उनकी इन मूवीज के लोग इतने दीवाने हो गए कि शाहरुख को ‘किंग ऑफ़ रोमांस’ कहा जाने लगा।

शाहरुख़ खान मिडिल क्लास फॅमिली से थे और अपनी शुरूआती पढ़ाई दिल्ली में ही की और ज्यादातर समय Delhi Theater Action Group में बिताते थे। बचपन में अपने टीचर से कहते कि मैं बॉलीवुड का स्टार बनूँगा दोस्तों उन्होंने सिर्फ कहा ही नहीं बल्कि अपनी बात को पूरा करके भी दिखाया। बचपन में वे कॉमिक्स पढ़ने के इतने शौक़ीन थे की कई बार तो घर से या अपने दोस्तों से पैसे उधार लिया करते थे। शुरुआत से ही इन्हे माता पिता का पूरा सहयोग मिला, साथ ही साथ दिल्ली में जन्मे पले इस एक्टर ने फ़िल्मी बैकग्राउंड न  होते हुए भी बॉलीवुड में धूम मचा दी थी।

किंग खान को कब हुआ प्यार

बता दे कि शाहरुख़ खान के दिल में पहली बार गौरी को देख कर कुछ कुछ हुआ,जी हाँ 1984 में शाहरुख़ ने गौरी को एक पार्टी में देखा और उसी दोहरान उन्हें गौरी से प्यार हो गया और वे हर उस पार्टी में जाने लगे जहां वो आती पर कुछ समय बाद दोनों अलग हो गए पर उनकी मंजिल एक थी।

गौरी मुंबई शिफ्ट हो गयी थी पर जब शाहरुख़ खान को पता चला तो वो उनके पीछे मुंबई आ गए और 1991 में उन्होंने शादी कर ली। जैसा कि आपने सुना होगा की बॉलीवुड में ज्यादातर रिश्ते लम्बे समय तक चलने से पहले ही टूट जाते है परन्तु शाहरुख़ खान और गौरी की जोड़ी ने एक अलग पहचान बनाई है।  इस प्रकार बॉलीवुड महशूर एक्टर अपनी निजी लाइफ में भी किंग साबित हुए।

किस तरह बनाई अपनी अलग पहचान

1). 1995 में आई ‘दिल वाले दुल्हनिया लें जाएंगे’ मूवी ने बॉक्स ऑफिस में अपनी अलग पहचान बनाई यहां तक की बच्चों से लेकर बूढ़े तक इस मूवी के दीवाने है और इस मूवी के लिए शाहरुख खान को फिल्म फेयर अवार्ड मिला। उनकी इस मूवी के बाद काजोल और शाहरुख़ खान की जोड़ी को भी लोगों ने पसंद किया।

2). 3 साल बाद बॉलीवुड किंग की मूवी ‘कुछ कुछ होता है‘ जिसमे वो काजोल और रानी मुखर्जी के साथ नजर आये और बखूबी अपने किरदार को निभाया और इसमें उन्हें बेस्ट एक्टर के अवार्ड से नवाजा गया।

3). अब इस पारिवारिक मूवी को कौन नहीं जानता, सही अंदाज़ा लगाया आपने,’कभी खुशी कभी गम’ और बाद में अनेक सी फिल्मो के लिए शाहरुख़ बेस्ट एक्टर का अवार्ड अपने नाम करते रहे।

बेहतरीन जोड़ी

वैसे तो शाहरुख ने बहुत सी हिरोइन्स के साथ काम किया है पर काजोल और शाहरुख़ की जोड़ी को लोग आज भी बेहद पसंद करते है लेकिन ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’से लेकर ‘दिलवाले’ तक दोनों का सफर और केमिस्ट्री कमाल की रही और इस जोड़ी ने एक साथ काम करके खूब नाम कमाया।

बेहतरीन किरदार से जीते पुरस्कार

अगर बात इनकी मेहनत की करे तो मुकाम वही हासिल करते है जिनके इरादे मजबूत होते है शाहरुख़ खान भी अपने मजबूत इरादों से मेहनत करते रहे। पूरे दिन में करीब 4 की नींद लेते और यही कारण है कि आज दुनियों में इनके कई fans है।

इसके आलावा किंग ऑफ़ रोमांस शाहरुख़ खान ने बड़े बड़े पुरुस्कार अपने नाम किये है और एक सुपरस्टार के आलावा बहुत बड़े बिसिनेसमैन है डोनेशन देने में भी कभी पीछे नहीं हटते , भारत के अलावा उन्होंने लंदन और दुबई में भी अपनी करोड़ों की सम्पति बनाई है यही नहीं फिल्मों में इतने बेहतरीन तरह से अपना किरदार निभाने वाले शाहरुख़ खान को भारत सरकार ने पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.