मनोवैज्ञानिक तथ्य | psychological facts for human being

मनोवैज्ञानिक तथ्य, psychological facts

1). जो इंसान छोटी छोटी बातों पर भी खुश होता है या फिर वो कोई जोक पर बहुत हँसता है वही इंसान अंदर से टूटा हुआ यानि बहुत दुखी होता है।

2). ये सही बात है दोस्तों अगर आप दुखी हो और आपके मन में कोई विचार आ रहा है अगर आप अपने अंदर उठने वाले विचारों को अपनी डायरी या किसी कॉपी में नोट कर लेंगे तो आपका अच्छा फील होगा और आपका मूड भी ठीक हो जाएगा। उन्ही विचारों को जब आप बहुत लम्बे समय बाद पढ़ते है तो आप उस डायरी को पढ़कर बेहतर फील करते है।

3). ज्यादातर बुद्धिमान व्यक्ति खुद की प्रशंसा नहीं करते और अज्ञानी व्यक्ति खुद को ज्यादा बुद्धिमान समझते है।और अपनी तारीफ करने का मौका नहीं छोड़ते।

4). यदि आप बार बार अपने लक्ष्यों के बारे में किसी को बता रहे है तो इससे आपका उस काम को करने में कुछ हद तक दिलचस्पी कम होने लगती है यह फिर उस काम के सफल होने की सम्भावना कम हो जाती है। कहने का भाव है कि उस काम के प्रति आपकी मोटिवेशन पावर कम हो जाती है।

5). अगर आप किसी का नाम उससे लेकर बात करते हो तो वो आपकी बातों पर ज्यादा ध्यान देगा।

6). क्या आप जानना चाहते हो कि किस तरह के लोग सीक्रेट्स को छुपाने में माहिर होते है तो जान लीजिये जो लोग कम बात करते है पर जब भी करते है मुद्दे की बात करते है ऐसे लोग दूसरे लोगों के comparison में सीक्रेट्स को छुपाने में माहिर होते है।

7). अगर आप भी चीज़े रख कर भूल जाते है तो आंखे बंद करके ध्यान से उस चीज़ को याद करे अगर आप ऐसा करते है तो उस चीज़ के मिलने की ज्यादा संभावना हो जाती है।

8). आपके साथ ऐसा हुआ है कि आपने किसी को पेन दिया हो और वो अपनी जेब में डालकर ले गया हो अगर हुआ है तो अब से आप किसी को कलम दे तो बिना ढक्कन के क्योकि बिना ढक्कन पेन देने से ज्यादातर लोग उसे जेब में नहीं डालते।

9). अगर कोई व्यक्ति आपसे जलता है तो टेंशन मत लीजिये क्योकि,कहते है न टेंशन लेने का नहीं देने का, आपने पहले से ही उस इंसान को टेंशन दे हुई है पता कैसे क्योकि वह इंसान आप जैसा बनना तो चाहता है पर वह बन नहीं सकता।

10). जो लोग छोटी छोटी बातों पर इमोशनल हो जाते है या उनकी आँखों से आंसू आने लगते है तो वो लोग दिल के बहुत नरम और साफ़ होते है।

11). अगर आप किसी काम को दिल से करना चाहते है तो हमारे दिमाग के पास इतनी पावर है कि वो उसी उबाऊ काम को पलभर में interesting काम में बदल सकता है।

12). ज्यादातर लोगो के हाथ में पावर या शक्ति आते ही वो दूसरे पर्सन को नजरअंदाज करने लगते है। कहते है न, पावर किसी भी इंसान को दूसरों की परवाह न करना सीखा देती है।

13). मनोविज्ञान ये भी कहता है की जो लोग दूसरों को हमेशा खुश रखते है या दूसरों की ख़ुशी में ही अपनी ख़ुशी समझते है सामान्यता खुद में वो शख्स अकेला महसूस करता है।

14). अजमाकर देखना दोस्तों जब हम ज्यादा खुश होते है तो उस समय हमे कम नींद आती है।

15). आप कितनी भी कोशिश कर ले। पर हमे ये याद नहीं रहता कि हमारा सपना कैसे या कहाँ से शुरू हुआ था।

16). मुझे तुमसे कोई बात करनी थी या कोई रिश्तेदार या आपका कोई फ्रेंड ये बोले कि मुझे तुमसे कुछ पूछना था। तो आपको अपने सारे बुरे काम कुछ ही पल में याद आने लगते है।

17). स्ट्रेसफुल व्यक्ति तेज आवाज़ में या फ़ास्ट म्यूजिक सुने तो वह ज्यादातर तनावमुक्त और ख़ुशी महसूस करता है।

18). जब लोग ग्रुप में बैठते है तो ज्यादातर वो किसी की शिकायत या बुराई कर रहे होते है। इसके बारे में आप क्या सोचते है?

यह भी पढ़ें:

Love Facts in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.