माइग्रेन के पेशेंट न ले टेंशन, ऐसे पाएं छुटकारा | Migraine Treatment in Hindi

माइग्रेन के पेशेंट न ले टेंशन, ऐसे पाएं छुटकारा

दरअसल देखा गया है कि माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए लोग तरह तरह की दवाइयों का सहारा लेते है। परन्तु दोस्तों ज्यादा दवाइयाँ खाने से हमारे स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। आज के तनावपूर्ण और हेक्टिक शेडूल में सिरदर्द होना आम बात है परन्तु जब यह समस्या बढ़ने लगे तो ये माइग्रेन का रूप धारण कर लेती है। जिसमें लोगों को सिर के एक हिस्से में असहनीय दर्द उठता है। हालांकि ये सिर के दोनों हिस्सों में भी हो सकता है। यह ऐसा दर्द है जो कि इतना तेज होता है कि कई बार लोग उस समय कोई काम भी नहीं कर पाते क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि कोई सिर पर जोर जोर से हथोड़े मार रहा हो।यदि आप भी इस समस्या से परेशान है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह ले। माइग्रेन की प्रॉब्लम से पुरुषों  के मुकाबले महिलाएं ज्यादा जूझती देखी गयी है परन्तु यह प्रॉब्लम बच्चों को भी हो सकती है।

किन कारणों से हो सकता है माइग्रेन ?

वैसे तो माइग्रेन की प्रॉब्लम किसी भी कारण से हो सकती है। परन्तु ज्यादा टेंशन, प्रॉपर नींद न लेना, तेज आवाज़, पीरियड्स में अनियमितता, किसी भी दवाई का ज्यादा सेवन करना, तेज सुगंध और इसके अलावा खट्टे फल और अचार के सेवन से भी यह दर्द हो सकता है।

बचाव:  जोर से शोर, चमकती रोशनी और संवेदी उत्तेजना माइग्रेन सिरदर्द के सामान्य कारण हैं। इन उत्तेजनाओं से बचना मुश्किल हो सकता है,  परन्तु अपने बचाव के लिए आपको ऐसी चीज़े करने से रुकना चाहिए। जैसे कि

1.) रात में ड्राइविंग

2.) फिल्म थिएटरों में होना

3.) क्लब में भाग लेने वाले या भीड़ वाले स्थान

4.) सूरज की चमकती रोशनी का अनुभव

इसके साथ साथ अपना समय समझदारी से प्रबंधित करें। मोटापे से भी पुराने सिरदर्द का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए व्यायाम और आहार के माध्यम से स्वस्थ वजन बनाए रखने से माइग्रेन के प्रबंधन में अतिरिक्त लाभ मिल सकता है। नींद की कमी भी लक्षणों को बढ़ा सकती है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप कम से कम सात से आठ घंटे की नींद ले। यहां तक ​​कि बहुत अधिक नींद लेने से भी सिरदर्द हो सकता है, इसलिए ज्यादा नींद भी ना ले ।

हेअल्थी डाइट(Healthy Diet)

एक स्वस्थ आहार खाने से माइग्रेन को रोकने में मदद मिल सकती है। और स्वस्थ आहार में ताजे खाद्य पदार्थ शामिल होने चाहिए, जिसमें फल, सब्जियां, साबुत अनाज और प्रोटीन शामिल हो। माइग्रेन प्रॉब्लम से छुटकारे के लिए कुछ अन्य खाद्य पदार्थ या एडिटिव्स में शामिल हैं |

1). अंडे (Eggs)

2).  टमाटर (Tomato)

3). प्याज (Onion)

4). दुग्ध उत्पाद (Dairy Products) 

5). पास्ता और ब्रेड उत्पादों सहित गेहूं  (Pasta and Bread Products)

6). खट्टे फल (Citric Fruit) 

7). खाद्य पदार्थों में पाए जाने वाले नाइट्राइट (Nitrite in Food Items)

8). शराब, विशेष रूप से रेड वाइन(Alcohol especially red wine)

9). कैफीन(Caffeine)

उम्र बढ़ने पर हो जाता है कम

वैसे तो इसका कोई इलाज़ नहीं है पर हाँ हम ये जरूर कह सकते है की जैसे – जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाएगी वैसे- वैसे आपको इससे राहत मिलेगी। क्योकि जब इंसान 30 से 40 की उम्र तक पहुंच जाता है तब तक माइग्रेन की प्रॉब्लम कम होना शुरू हो जाती है। काफी लोगों का दर्द का स्तर काम होने लग जाता है। पर अगर हम बात करे हर एक उस सख्श की जो इस प्रॉब्लम से गुजर रहा है तो हम कह सकते है की कई ऐसे भी लोग होते है, जिनको 30 से 40 साल के दौरान भी माइग्रेन की तीव्रता कम नहीं होती। पर अगर तो मरीज को एक महीने में बस एक या दो बार ही इस दर्द की शिकायत है तो वो दवाई ले सकता है। क्योकि ऐसे मरीजों के लिए स्पैशल दवाई दी जाती है। और ये भी सच है की ज्यादा लोग इसी कैटिगरी में आते है, पर कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हे बहुत ही ज्यादा माइग्रेन की शिकायत रहती है। और ऐसे लोगो के लिए प्रोफाइलैक्सिस मेडिसिन सबसे सही होती है पर इस मेडिसिन को शुरू में काम मात्रा में लेना चाहिए और इसके बाद धीरे- धीरे इसकी मात्रा को बढ़ा सकते है पर जब आपको इससे आराम मिल जाये अच्छे से तो ऐसे ही धीरे -धीरे इसको प्रयोग करना बंद कर दें ।

माइग्रेन से राहत पाने के लिए इन्हे भी आजमाएं

आइस पैक (Ice Pack): माइग्रेन की वजह बनने वाली फैली या सूजी मांसपेशियों को रिलैक्स करने के लिए आइस पैक काफी फायदेमंद है। तो माइग्रेन की प्रॉब्लम से छुटकारा पाने के लिए आप एक साफ़ टॉवल में आइस के टुकड़े लेकर सिर, माथे, और गर्दन पर थोड़ी देर सिकाई करे। आइस पर पिपरमिंट ऑइल की कुछ बूंदे डालने से आपको जल्द रहत मिलेगी।

मसाज(Massage) : जब भी आपको तेज दर्द महसूस हो तो हल्के तेल से अपनी 2 उंगलियों से धीरे धीरे मसाज करें। क्योंकि हल्के गर्म तेल से मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन सही होता और मांसपेशियों को भी रहत मिलती है जिससे सिरदर्द से आराम मिलता है।

अदरक(Ginger) : अदरक से भी सिर दर्द से बेहद रहत मिलती आप चाहे तो अदरक का सेवन किसी भी रूप में कर सकते चाहे तो अदरक को मुँह में रख सकते है या फिर चाय में अदरक डालकर  कर पी सकते है इसके अलावा आप अदरक में एक चम्मच शहद मिलकर भी ले सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.