SSC MTS परीक्षा में Numerical Aptitude की तैयारी कैसे करें? Exams Tips Hindi

How to Prepare for Numerical Aptitude in SSC MTS Exam in Hindi

कर्मचारी चयन आयोग भारत सरकार के विभिन्न विभागों / मंत्रालयों / कार्यालयों में मल्टी टास्किंग स्टाफ के पद के लिए उपयुक्त उम्मीदवारों की भर्ती के लिए एसएससी एमटीएस परीक्षा आयोजित करता है। चयन प्रक्रिया तीन चरणों यानी कंप्यूटर आधारित परीक्षा (पेपर- I), और एक वर्णनात्मक पेपर (पेपर- I), और दस्तावेज़ सत्यापन में आयोजित की जाती है। उम्मीदवारों को यह जानने के लिए तैयारी शुरू करने से पहले अपने SSC MTS Application Status की जांच करनी चाहिए कि उनका आवेदन स्वीकार किया गया है या नहीं। numerical aptitude सेक्शन को पेपर- I के सभी सेक्शन में से एक लंबा और समय लेने वाला सेक्शन माना जाता है। संख्यात्मक अभियोग्यता के प्रश्नों को हल करने के लिए एक कुशल दृष्टिकोण विकसित करने से आपको परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

उम्मीदवारों के लिए अपने समग्र एसएससी एमटीएस न्यूमेरिकल एप्टीट्यूड सेक्शन (SSC MTS Numerical Aptitude section)को मजबूत करने के लिए सर्वोत्तम तैयारी रणनीति की योजना बनाना महत्वपूर्ण है। इसलिए, छात्रों को सही रणनीति के साथ मार्गदर्शन करने के विचार के साथ, हमने एसएससी एमटीएस न्यूमेरिकल एप्टीट्यूड सेक्शन की तैयारी के बारे में विस्तृत सुझाव साझा किए हैं। महत्वपूर्ण विषयों को जानें (Know the Important Topics)

 

उम्मीदवारों को उन विषयों से अच्छी तरह परिचित होना चाहिए जो परीक्षा के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण हैं। इस प्रकार, उन्हें विषयों को जानने और परीक्षा के अनुसार तैयारी करने के लिए पूरे पाठ्यक्रम का अध्ययन करना चाहिए। उम्मीदवारों के लिए चीजों को आसान बनाने के लिए, हमने न्यूमेरिकल एप्टीट्यूड सेक्शन के कुछ महत्वपूर्ण विषयों को नीचे साझा किया है।

Important Topics of the Numerical Aptitude Section

1.   संख्या प्रणाली ( Number Systems )

2.   दशमलव और भिन्न और संख्याओं के बीच संबंध (Decimals and Fractions and relationship between Numbers)

3.   पूर्ण संख्याओं की गणना (Computation of Whole Numbers)

4.   अनुपात और समानुपात (Ratio and Proportion)

5.   टेबल और ग्राफ़ का उपयोग (Use of Tables and Graphs)

6.   क्षेत्रमिति (Mensuration)

7.   मौलिक अंकगणितीय संचालन (Fundamental arithmetical operations)

8.   प्रतिशत (Percentages)

9.   औसत (Averages)

10.  ब्याज (Interest)

11.  लाभ और हानि (Profit and Loss)

12.  छूट (Discount)13.  समय और दूरी (Time and Distance)

14.  अनुपात और समय (Ratio and Time)

15.  समय और कार्य, आदि। (Time and Work, etc.)

मूल बातें पहले! (Basics First!)

जब उम्मीदवार तैयारी के साथ शुरुआत करते हैं, तो उन्हें शॉर्टकट ट्रिक्स (Shortcut tricks) या विधियों का उपयोग करके प्रश्नों (Questions )को हल करने का प्रयास नहीं करना चाहिए। सबसे पहले, उन्हें सभी अध्यायों की मूल अवधारणाओं को स्पष्ट करना चाहिए और फिर सभी विषयों के मूल सूत्रों और सिद्धांतों को सीखना चाहिए। मूल अवधारणा पर मजबूत पकड़ के बिना, शॉर्ट-कट ट्रिक्स केवल अवधारणाओं पर भ्रम पैदा कर सकते हैं। एक बार जब वे सभी अध्यायों की बुनियादी अवधारणाओं को कवर कर लेते हैं, तो वे उच्च-स्तरीय तैयारी के लिए उन्नत पुस्तकों के साथ आगे बढ़ सकते हैं।

समय प्रबंधन कौशल सीखें (Learn Time Management Skills)

समय प्रबंधन किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक माना जाता है। यदि उम्मीदवार समय प्रबंधन कौशल सीखते हैं तो उन्हें गणनाओं पर अधिक समय खर्च करने की आवश्यकता नहीं होगी। इस प्रकार, उनके लिए त्वरित गणना के लिए टेबल, वर्ग, घन, वर्गमूल और घनमूल की तरकीबें सीखना महत्वपूर्ण है। त्वरित गणना बेहतर परिणामों के लिए जटिल और समय लेने वाले विषयों पर ध्यान केंद्रित करने में उम्मीदवारों की मदद कर सकती है। यदि उम्मीदवार नियमित रूप से शॉर्ट-कट विधियों को लागू करके प्रश्नों का अभ्यास करते हैं, तो वे वास्तविक परीक्षा में किसी भी जटिल प्रश्न को सेकंड के भीतर हल करने में सक्षम होंगे।

मॉक टेस्ट और पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों का प्रयास करें (Attempt Mock Tests and Previous Year Papers)

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी उचित अभ्यास के बिना अधूरी है। उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे वास्तविक परीक्षा के लिए अपनी गति और सटीकता में सुधार करने के लिए अधिक से अधिक मॉक टेस्ट का प्रयास करें। और साथ ही, उन्हें पिछले वर्षों में पूछे गए प्रश्नों के प्रकार और उनके कठिनाई स्तर को समझने के लिए (SSC MTS Previous Year Papers) पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों को हल करना चाहिए। उम्मीदवारों को अपनी ताकत और कमजोरियों की पहचान करने के लिए विभिन्न स्रोतों से अधिक से अधिक नमूना प्रश्नों का अभ्यास करना चाहिए और परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ अंक प्राप्त करने के लिए कमजोर क्षेत्रों में सुधार पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

नोट्स बनाएं और संशोधित करें (Create Notes and Revise)

उम्मीदवारों को त्वरित संशोधन के लिए सूत्रों के नोट्स, शॉर्ट-कट ट्रिक्स और अन्य महत्वपूर्ण अवधारणाओं को बनाए रखना चाहिए। सभी शॉर्ट-कट विधियों और सूत्रों को एक साथ याद रखना लगभग असंभव है। इसलिए, उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वास्तविक परीक्षा में प्रश्नों को हल करते समय किसी भी भ्रम से बचने के लिए उन्हें नियमित रूप से संशोधित और याद रखें। संख्यात्मक अभियोग्यता अनुभाग में उच्च अंक प्राप्त करने के लिए, उम्मीदवार को नियमित रूप से संशोधित और अभ्यास करना चाहिए।

Also Read

How to fill IIT JAM 2022 Application form Online in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.